कंफ्यूशियस के महान विचार हिंदी में ।

“एक ऐसी नौकरी खोजें जिससे आपको प्यार हो जाए और आपको अपने जीवन में एक भी दिन काम न करना पड़े।”

“अच्छी तरह शासित प्रदेश में गरीबी होना शर्म की बात है, और बुरी तरह शासित प्रदेश में अमीरी होना शर्म की बात है।”

“अपने भीतर की बुराई से लड़ो, दूसरों के भीतर की बुराई से नहीं।”

“पहले अपने आपको सम्मान दें, दूसरे लोग आपको सम्मान देने लगेंगे।”

“इतिहास को भूलकर, भविष्य का निर्माण संभव नहीं है।”

“बदला लेने की भावना मन में आते ही दो कब्र खोद लें।”

“अंधेरे को कोसने से आसान है एक मोमबत्ती जलाना।”

“अज्ञानता वो रात है जिसमे चाँद और तारे नहीं दिखेंगे।”

“जब महान व्यक्ति मिले तो उसका अनुसरण करें और जब किसी मूर्ख से मिले तो अपने अंदर झांके।”

“सारे मनुष्य समान है बस उनकी आदतें उनको आगे ले जाने ओर पीछे रखने में मदद करती हैं।”

“मैंने सुना और भूल गया, मैंने देखा और याद रखा, मैंने किया और समझ गया।”

“क्रोधित व्यक्ति हमेशा जहर से भरा होता है।”

“इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप धीरे-धीरे चल रहे हैं पर मुख्य बात की आपको रुकना नहीं है।”

“अप्रशिक्षित लोगों को युद्ध में भेजना उनके साथ विश्वासघात करना है।”

“अपने विचारों को साफ करने के लिए काम करें। बुरे विचार नहीं होंगे तो बुरे कर्म नहीं होंगे।”

“वह महान नहीं है जो कभी नहीं गिरा, लेकिन वह महान है – जो गिर गया और उठ गया!”

“बिना सोचे सीखना बेकार है, लेकिन बिना सीखे सोचना खतरनाक है।”

“दूसरे के साथ वो मत करो जो आप अपने लिए नहीं चाहते ।”

“जो पहाड़ों को हिलाता है वह पहले छोटे पत्थरों को हटाता है।”

“अगर लोग मुझे नहीं समझते हैं तो मैं परेशान नहीं हूँ – अगर मैं लोगों को नहीं समझता हूँ तो मैं परेशान हूँ।”

“महान सभी के साथ सद्भाव में रहता है, और नीच व्यक्ति अपनी तरह की नीचता की तलाश करता है।”

“हर चीज में सुंदरता होती है, लेकिन हर किसी में इसको देखने की योग्यता नहीं है।”

“लोगों का सम्मान के साथ नेतृत्व करें और लोग सम्मानजनक होंगे। लोगों के साथ अच्छा व्यवहार करें और लोग कड़ी मेहनत करेंगे। सदाचारियों को उठाओ और अशिक्षितों को शिक्षा दो, तो लोग तुम पर भरोसा करेंगे।”

“एक नेक व्यक्ति किसी से धोखे की उम्मीद नहीं करता है, लेकिन जब उसे धोखा दिया जाता है, तो वह सबसे पहले इसे नोटिस करता है।”

“जो लोग दूर की कठिनाइयों के बारे में नहीं सोचते हैं, वे निश्चित रूप से जल्दी ही कठिनाइयों का सामना करेंगे।”

“ऋषि को अपनी कमियों पर शर्म आती है, लेकिन उन्हें सुधारने में शर्म नहीं आती।”

“अध्ययन ऐसे करें जैसे कि आपके पास लगातार अपने ज्ञान की कमी है, और जैसे कि आप लगातार अपने ज्ञान को खोने से डरते हैं।”

Leave a comment