मोटापा कम करें आसानी से। How to Weight Lose in Hindi

How to weight Lose in Hindi

आज के समय में हमारी Lifestyle ऐसी बन चुकी है जो की मोटापे का सबसे बड़ा कारण है, आज हम शारीरिक मेहनत को लगातार कम करके सुविधायुक्त जीवन जीने में यकीन करते हैं। मोटापे के सबसे बड़े कारणों में है कम से कम शारीरिक मेहनत, अत्यधिक फास्टफूड, कोल्डड्रिंक्स जो की हमारे शरीर में विटामिन्स और प्रोटीन की जगह कार्बोहायड्रेट और शुगर की मात्रा को बढ़ाते रहते हैं और हम बड़े से लेकर बूढ़े तक इन जंकफूड को खाकर अपने शरीर में ही जंग लगा कर बैठ जाते हैं। मोटापा हमारे शरीर को बदसूरत बनाने के साथ – साथ कई प्रकार की बीमारियों को भी आमंत्रण देता है।

आइये अब हम जानते हैं कुछ ऐसे तरीके जो हमे Healthy और फिट बनाते हैं और मोटापे जैसी बीमारी से छुटकारा दिलाते हैं –

32 बार खाने को चबाने की आदत चमत्कारिक है

इस तरीके पर Western देशों में बहुत Research हो चुकी है और हम में से ज्यादातर Indian इसके बारे में अनजान हैं। हमे खाने का एक कोर मुँह में रखने के बाद उसको 32 बार चबाना होता है जिससे हम ज्यादा समय खाना खाने में लगाते हैं जिससे हम भूख से ज्यादा खाने से बचते हैं, क्योंकि तेजी से खाना खाने के दौरान हम बहुत ज्यादा खा लेते हैं और ओवर कैलोरी ले लेते हैं। जब हम खाना खाने लगते हैं तो हमारा शरीर हमारे माइंड को बीस मिनट बाद ये सन्देश भेजता है की पेट भर चूका है जबकि हम इतना तेजी से खाते हैं की दस मिनट में दो टाइम का खाना साफ़ कर देते हैं।

तेजी गति से व्यायाम करें

वजन को कम करने के लिए मॉर्निंग वाक जैसे तरीके कारगर नहीं हैं क्योंकि वाकिंग से बहुत धीरे और कम कैलोरी बर्न होती है, तेज व्यायाम एरोबिक्स और दौड़ना , डांस करने से कैलोरी तेजी से बर्न होती है, कम से कम रोज एक घंटा एरोबिक्स व दौड़ने से आप महीने में पांच किलो तक वजन आसानी से घटा सकते हैं।

डॉयटिंग का विकल्प सुरक्षित नहीं

सिर्फ डॉयटिंग के भरोसे वजन कम करना हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक है ये बात रिसर्च में साबित हो चुकी है। डॉयटिंग से हमारे शरीर का वजन तेजी से कम होता है जिसका कारण फैट का कम होना नहीं है बल्कि प्रोटीन और अन्य पोषक तत्वों की कमी से हड्डियों का कमजोर होना है। हड्डियों की कमजोरी हमारे लिए मोटापे से ज्यादा नुकसानदायक है इसलिए डॉयटिंग के दौरान प्रोटीन और विटामिन्स से भरपूर आहार लेना व कार्ब यानि कार्बोहायड्रेट को कम करना चाहिए।

भरपूर नींद लें

नींद की कमी से शरीर में भूख बढ़ती है। शरीर रिलैक्स ना हो पाने से शरीर में हार्मोन्स का इंबैलेंस होना मोटापे को बढ़ावा देता है साथ ही अन्य बिमारियों को भी पैदा करता है। 7 – 8 घंटे की नींद लें व दिन में सोने से बचें।

साबूत अनाज और सब्जियां भोजन में शामिल करें

साबूत अनाज में फाइबर होता है जबकि आटे में फाइबर कम हो जाता है और कार्बोहायड्रेट बढ़ जाता है, आटा और चावल का उपयोग कम से कम करें और मैदे को तुरंत ही खाना बंद कर दें, हरी सब्जियां और सलाद फैट को कम करती हैं और शरीर में उचित पोषक तत्त्व की पूर्ति करती हैं। बिना तेल वाले अनाज को प्रमुखता दें सोयाबीन, तिल और अन्य फलों के बीज खाने से बचें।

Leave a comment