Rahim ke dohe। रहीम दास जी के एक दोहे का हमारी सफलता में महत्व।

रहिमन धागा प्रेम का, मत तोड़ो चटकाय।

टूटे से फिर ना जुड़े, जुड़े तो गांठ पड़ जाय।

दोस्तों रहीम दास जी का ये एक दोहा हमारी life को change कर सकता है हमारे लिए success के दरवाजे खोल सकता है, बस जरूरत है तो इस दोहे का meaning समझने और lifestyle में वो जरूरी changes लाने की जो हमे success के दरवाजे तक ले जाएं।

दोस्तों इस दोहे का सीधा सा भावार्थ जो हम समझते हैं वो है कि हमे प्रेम रूपी संबंध को कभी भी नहीं तोड़ना चाहिए यदि हमने बुरा भला कहकर तोड़ दिया है तो फिर उस संबंध का जुड़ना मुश्किल है और जुड़ भी जाये तो उसमें एक संदेह का भाव बीच मे आ जाता है।

[mc4wp_form id=”1974″]

दोस्तों आइये जानते हैं कि ये रहीम दास जी के दोहे को आप कैसे समझ कर एक कहानी अपनी सफलता की कैसे लिखेंगे-

  1. Business में Relations की importance – आपके लोगों से बेहतरीन relations हैं तो आप तेजी से business को grow कर सकते और अच्छे से establish कर सकते हैं, रहीम जी के दोहे के अनुसार हमे अच्छे customers से कभी भी इस तरह से relations को नहीं तोड़ना चाहिए कि दुबारा आप अपने customers के सामने जाने की हिम्मत भी ना कर पाए, आपका business हमेशा अच्छे products की आपकी selling से customers को जोड़ता है, आप बेकार products अपने customers को supply करेंगे तो आपके relation खराब होंगे और दुबारा आपसे customers कभी भी जुड़ना पसंद नहीं करेंगे, भले ही आप अभी quality प्रोडक्ट्स बेच रहे हों।
  2. Family Relations की Importance – हम आजकल देख सकते हैं कि facebook पर 10000 followers और 5000 friends हैं फिर भी व्यक्ति ने मौत को गले लगा लिया क्योंकि उसके आसपास ऐसा कोई नहीं था जो उसकी condition को समझ कर सहारा दे सके, आजकल इतने नामी कलाकार आत्महत्या जैसे कदम उठा रहे हैं, क्योंकि वो लोग उन दोस्तों से घिरे हैं जो बस आपके साथ अपने फायदे के लिए बने साझीदार हैं ना कि आपके साथ आत्मीय हैं, रहीम जी के दोहे के अनुसार अपने परिवार और उन मित्रों और रिश्तेदारों से अच्छे सम्बंध के बारे कहा गया है जो आपकी तरक्की देखकर ही proud feel करते हैं, ना कि वो आपके business partner हैं, आज कल हम देखते हैं कि माँ – बाप से दो साल से कभी बात नहीं हुई और दोस्तों को सुबह शाम message होते हैं, पर ध्यान रखें ये दोस्त आप इस शहर में हो तो यहां आपके साथ दिखते हैं अगले शहर में आप होंगे तो वहाँ फिर नए दोस्त होंगे, पिछले वालों से बात चीत दो से तीन महीने में बंद हो जाएगी, पर आपके जो माँ बाप और बहन भाई हैं वो अभी भी बदले नहीं है वो वही पुराने हैं इसलिए उनके साथ संबंध तोड़ना सही नहीं है और जब आप एक बार सम्बंध तोड़ लेंगे और फिर जोड़ेंगे तो उस relations में वो मिठास संभव नहीं है, आप सब्जी बनाते समय उसमें नमक ना डाले और बनने के बाद डाले तो फिर उसमें वो नमक घुलकर अंदर तक नहीं जा सकता है और आप वो स्वाद उसमे अब नहीं मिलेगा जो पहले नमक डालने से मिलता।
  3. collegues के साथ संबंध – आपके साथ काम करने वालों से आपके संबंध अच्छे नहीं होंगे तो आप कभी भी अपने field में success और promotion जैसी चीजें सोच भी नहीं सकते हैं, क्योंकि आपके leader बनने के लिए जरूरी है कि आपके साथ और नीचे व ऊपर के लोग आपके साथ हर decision में खड़े हों, जब आपके relations सबके साथ अच्छे होंगे तो ही आप अपने साथ के लोगों से काम करवा सकेंगे, रहीम दास जी के दोहे के अनुसार आपको इनसे relations हमेशा better रखने हैं अपने career में success के लिए।
  4. Married life में Relations – आपकी married life आपके जीवन का सबसे important part है, आप अपने जीवन मे success की heights तक पहुचेंगे तो उसमे आपके जीवनसाथी का 50% रोल रहेगा, आपका relation आपके जीवनसाथी से हमेशा सच्चाई और पारदर्शिता पर टिका रहता है इसमें कभी भी संदेह नहीं होना चाहिए, जीवनभर साथ मतलब साथ ही जीना और साथ ही मरने के संकल्प के साथ आपको जीना है साथ ही जीने और मरने का मतलब है हर मुश्किल और सुख की घड़ी में दोनों एक साथ रहेंगे और एक दूसरे की problems का दोनों एक साथ solutions निकलेंगे, रहीम दास जी के दोहे के अनुसार आपका आपके जीवनसाथी के साथ के संबंध कभी भी नहीं तोड़ना चाहिए और आपके लाइफ में सच्चाई और ट्रांसपेरेंस हमेशा रखना है ये संबंध कभी भी दुबारा जुड़ नहीं सकता है, आपके अन्य संबंधों में तो गांठ पड़ जाती है पर इसमे गाँठ भी नहीं लग सकती है।

Please subscribe successtipshindi.com, comments, suggestions.

[mc4wp_form id=”1974″]

Leave a comment